इस दुनिया हर कम्युनिटी के लोगों के लिये एक त्यौहार होता है। प्यार करने वाले लोगों के लिये वेलेंटाइन डे किसी त्यौहार से कम नही होता है। एक दूसरे पर जी—जान लुटा देने वाले प्रेमी जोडे इस दिन का बेसब्री से इंतेजार करती हैं। Valentine Day के दिन पर न जानें कितने आशिकों का प्यार पूरा हो जाता है और न जाने कितने आशिकों का प्यार अगले साल के वेलेंटाइन डे ​तक पोस्टपोन हो जाता है। क्या आप जानते हैं कि वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है और इसके मनाने के पीछे की क्या कहानी हैं।

वेलेंटाइन डे क्या है। Valentine Day Kya Hai

वेलेंटाइन डे प्यार करने वालों का दिन हैं। इसे 14 फरवरी को मनाया जाता है। इस दिन दो प्यार करने वाले एक दूसरे को अपने प्रेम का इजहार वैलेंटाइन कार्ड भेजकर, फूल देकर, या मिठाई आदि देकर करते हैं। ये त्यौहार पहले अंग्रेजी बोलने वाले देशों मे मनाया जाता था। धीरे—धीरे आज पूरी दुनिया में 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे मनाया जाता है। Valentine Day के मनाने के पीछे एक संत वेलेंटाइन की कहानी है जिन्हे 14 फरवरी सन 269 में फांसी पर चढा दिया गया था।

वेलेंटाइन डे मनाने के पीछे कहानी

‘ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वॉराजिन’ नाम की पुस्तक के मुताबिक रोम मे तीसरी सदी में क्लोडियस नाम का एक राजा हुआ था जिसकी राय थी कि शादी करने वाले पुरूषों में शारीरिक शक्ति और बुध्दि की कमी आती है। इसलिये उस राजा ने पूरे राज्य मे ऐलान करवा दिया कि उसका कोई भी अधिकारी और सैनिक शादी नही करेगा। उसी राज्य में वेलेंटाइन नाम के एक संत रहते थे। जो निया में प्यार को बढ़ावा देने में मान्यता रखते थे। उनके लिए प्रेम में ही जीवन था। वे प्रेम विवाह के पक्ष में थे। जिसके कारण उनके अनेकों समर्थक थे। संत वेलेंटाइन ने राजा के उस फैसले का विरोध किया और पूरे राज्य में लोगों को विवाह करनें के लिये प्रेरित किया। संत वेलेंटाइन ने अनेंको अधिकारियों और सैनिकों का विवाह करवाया। वे सैनिकों को उनका विवाह करानें मे मदद करते थे। किसी भी ​सैनिक को अपनी प्रेमिका से विवाह करना होता था वे मदद मॉगने संत वेलेंटाइन के पास जाते। संत वेलेंटाइन चोरी चुपके उनकी शादी करवा देते थे। जो बात राजा का नागवार गुजरी और राजा ने उसे मृत्युदण्ड का आदेश दे दिया। 14 फरवरी सन 269 में राजा के आदेश के बाद संत वेलेंटाइन को फांसी दे दी गई। जिससे उसके सम​र्थकों ने इस दिन को संत वेलेंटाइन डे के दिवस में मनाना शुरू कर दिया। तभी से वेलेंटाइन डे की शुरूआत हो गई।

हालांकि कई लोगों का मानना है कि Valentine Day का संत वेलेंटाइन से कोई सम्बन्ध नही हैं। उनकी मृत्यु से पहले भी वेलेंटाइन डे मनाया जाता था। वेलेंटाइन डे को लेकर अन्य भी कई कहानियॉ प्रचलन में हैं। लेकिन सबसे ज्यादा मान्यता संत वेलेंटाइन वाली कहानी को ही दी जाती है। कुछ लोगों का ये भी कहना कि कुछ व्यापारियों ने ग्रीटिंग कार्ड, खिलौने, और मिठाईंयों की बिक्री को बढाबा देने के लिये सुनुयोजित तरीके से इस परम्परा की शुरूआत करवाई। अमेरिका ने ग्रीटिंग कार्ड एसोसिएशन का अनुमान है कि लगभग एक अरब वैलेंटाइन हर साल पूरी दुनिया में भेजे जाते हैं, जिसके कारण,क्रिसमस के बाद, इस छुट्टी को कार्ड भेजने वाले दूसरे सबसे बड़े दिवस के रूप में जाना जाता है।

वेलेंटाइन वीक क्या होता है।

वेलेंटाइन वीक 7 फरवरी से 14 फरवरी तक मनाया जाता है। वेलेंटाइन वीक के आखिरी दिन 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे मनाया जाता है। यानी Valentine Day वेलेंटाइन वीक का ही एक हिस्सा है। वेलेंटाइन वीक की डेट शीट नीचे दिये हुये अनुसार है।

7 फरवरी — रोज डे
कहते हैं प्रेमी प्रेमिका के रिश्ते की शुरूआत एक गुलाब से होती है। फिल्मों में भी एक गुलाब से ही पूरा मामला बन जाता है। इस दिन को रोज डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन प्रेमी—प्रेमिकाऐं एक दूसरे का गुलाब का फूल भेंट करते हैं।

8 फरवरी — प्रपोज डे
इस दिन लोग एक दूसरे को प्यार का इजहार करते हैं। मशहूर कवि कुमार विश्वास की एक मशहूर शायरी कि आखिरी पंक्तियां है कि ‘ अधूरा अनसुना ही रह गया यूं प्यार का किस्सा, कभी तुम सुन नही पाईं, कभी मैं कह नही पाया’ प्यार में इजहार बहुत जरूरी होता है। अगर इजहार न किया जाऐ तो प्यार मुकम्मल नही हो सकता है। कई कहानियां इजहार न होने की वजह से अधूरी रह गईं।

9 फरवरी — चॉकलेट डे
लड़कियों को चॉकलेट बहुत पसंद होती है। अगर किसी लड़की को चॉकलेट दी जाऐ तो वो बहुत खुश हो जाती है। चॉकलेट प्यार में दिये जाने वाला सबसे पहला गिफ्ट होता है। इस दिन प्रेमी युगल अपने पार्टनर को चॉकलेट भेंट करते हैं।

10 फरवरी — टेडी डे
जिंदगी के एक मोड़ पर जब व्यक्ति अकेला महसूस करता है, तो उसके अकेलेपन को दूर करने के लिये एक बड़ा सा टेडी बियर काम आता है। हांलांकि ये थ्योरी कोई साइंटिफिक नही हैं लेकिन प्रेमी युगल इस पर काफी भरोसा करते हैं।इस दिन प्रेमी—प्रेमिका एक दूसरे को टेडी बियर या अन्य प्रकार के गिफ्ट जैसे साफ्ट टायज आदि देते हैं।

11 फरवरी — प्रोमिस डे
प्यार हो तो जीने— मरने की कसमें न खाईं जाऐ, ये तो हो ही नही सकता। ये कसमें हीं तो एक दूसरे को बांधे रखती हैं। इस दिन जीने मरने की कसमें खाई जाती हैं। एक दूसरे का साथ निभाने की कसमें खाई जाती हैं।

12 फरवरी — हग डे
जब कोई अपना बाहों में होता है तो दुनिया बाहों मे होती है, ये प्यार का अनूठा एहसास होता है। इस दिन जोडे एक दूसरे को हग करते हैं यानी गले लगते हैं।

13 फरवरी — किस डे
वेलेंटाइन वीक में किस डे वाले दिन जोडे अपने पार्टनर को किस करते हैं।

14. वेलेंटाइन डे
वेलेंटाइन डे आखिरी दिन को Valentine Day के रूप में मनाते हैं। इसे सेलिब्रेट किया जाता है। वेलेंटाइन पार्टी रखी जाती है। एक दूसरे के साथ समय बिताते हैं।

उम्मीद है कि Valentine Day को लेकर हमारा ये आर्टिकल पसन्द आया होगा। हमारे आर्टिकल आपको कैसे लग रहे हैं हमें कमेंट मे जरूर बताऐं जिससे हम अपने कंटेंट में और अधिक सुधार कर सकें।