प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2020 क्या है

188

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना: भारत एक ऐसा देश है जहां पर युवाओं के साथ साथ वृद्ध लोगों का भी ध्यान रखा जाता है। भारत में आज भी लोग गरीब तथा ज्यादातर परिवार गरीबी रेखा में आते हैं क्योंकि यहां पर लोग ज्यादा रिस्क लेना पसंद नहीं करते हैं और अपनी सीमित स्रोतों के माध्यम से ही अपना जीवन यापन करते हैं। भारत एक सांस्कृतिक देश होने के वजह से कई मायनों में महत्वपूर्ण देश तो है परंतु कुछ ऐसी परंपराएं तथा रीति रिवाज के कारण अन्य देशों के मुकाबले भारत पीछे भी होता रहा है। (ये भी जरूर पढ़ें:— पीएम हेल्थ आईडी कार्ड क्या है)

इसी तर्ज में हम यदि उन छोटे दुकानदारों तथा व्यापारियों के बारे में बात करें तो जब वह जवान होते हैं, तब उनमें बहुत ज्यादा रिस्क उठाने की क्षमता होती है परंतु धीरे-धीरे वृद्ध होने लगते हैं और उनमें रिस्क उठाने की क्षमता ज्यादा नहीं होती है, ऐसे में उनके पास आर्थिक सहायता भी नहीं होती है। जब यह समस्या केंद्र सरकार के सामने आई तो उन्होंने अपने छोटे कारोबारियों तथा व्यापारियों के लिए एक लाभकारी योजना का शुभारंभ किया जिसका नाम प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना है।

आज हम इस लेख के माध्यम से आपको यह बताएंगे कि प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2020 के लिए आवेदन कैसे करें तथा इसके क्या क्या लाभ है।

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना

इस योजना की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया है। इसको लोगों के सामने 31 मई 2019 को लाया गया था इसे छोटे व्यापारियों तथा दुकानदारों के लिए बनाया गया है। जिन्हें वृद्धावस्था में आर्थिक सहायता प्रदान की जा सके, यह अत्यंत महत्वपूर्ण तथा लाभकारी योजना है। इसके अंतर्गत उन सभी व्यापारियों तथा छोटे दुकानदारों को लाभ पहुंचेगा।

जो बूढ़े होने पर किसी तरह का कार्य नहीं कर पाते इसके अंतर्गत 18 वर्ष की आयु वाले व्यक्ति को ₹55 का प्रीमियम हर महीने देना होगा यह एक न्यूनतम राशि है वह व्यक्ति ₹55 से भी ज्यादा का प्रीमियम दे सकता है तथा 40 वर्ष की उम्र वाला व्यक्ति अधिकतम ₹200 का प्रीमियम प्रति महीने देना होगा। यह राशि उनके लिए निश्चित है जा लाभार्थी 60 साल की उम्र का हो जाएगा या इससे अधिक का तो उन्हें केंद्र सरकार द्वारा ₹3000 की धनराशि पेंशन के रूप में प्रतिमाह दी जाएगी इससे यह साबित होता है, कि केंद्र सरकार अपने देश के छोटे उद्योगों तथा व्यापारियों के बारे में एक अच्छी सोच रखता है। (ये भी जरूर पढ़ें:— प्रधानमंत्री रोजगार योजना 2020 क्या है? कैसे आवेदन करें)

योजना का उद्देश्य

हमारे यहां पर आर्थिक स्थिति को लेकर लोग काफी सजग और कमजोर भी रहते हैं परंतु देश में अपने नागरिकों के लिए समय-समय पर ऐसी योजनाएं ला कर उन लोगों को अवश्य लाभ पहुंचाया है। जिनको वास्तविकता में इसकी जरूरत है इस योजना का उद्देश्य यह है कि भारत के उन छोटे दुकानदार कारोबारियों तथा अन्य व्यापारियों को 60 साल की उम्र के बाद ₹3000 प्रतिमाह पेंशन देना ताकि उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारा जा सके तथा वह अपने परिवार पर बोझ बने ना रहे। इसका यह भी उद्देश्य है कि इसके तहत कारोबारी अपनी धनराशि सुरक्षित तथा संरक्षित करके रख सकता है ताकि बाद में उसका लाभ उसे मिल सके साथ ही इसका लाभ छोटे किसान तथा सीमांत किसानों को भी प्राप्त होगा।

योजना के लाभ

● इसका सबसे अच्छा लग रहा है कि उन सभी छोटे कारोबारियों तथा व्यापारियों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
● जब कोई व्यक्ति 60 वर्ष का हो जाता है तो उसे आर्थिक सहायता की अधिक आवश्यकता होती है क्योंकि वह उस उम्र में कोई कार्य तथा रोजगार प्राप्त नहीं कर सकता है इसलिए उन्हें ₹3000 प्रति महीने की दर से धनराशि पेंशन के रूप में दी जाएगी।
● इसका लाभ देश के छोटे किसान तथा सीमांत किसानों को भी प्रदान किया जाएगा।
● यह योजना 50% सरकार द्वारा वित्तीय सहायता दी जाएगी।
● इसके लिए एक आयु निर्धारित भी की गई है जो 18 वर्ष से 40 वर्ष तक की होनी चाहिए।
● इसका जो भी पेंशन राशि प्राप्त होगा वह लाभार्थी के बैंक खाते में सीधा प्राप्त हो जाएगा।

योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के अंतर्गत पेंशन की राशि लाभार्थी के खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी। इसके अंतर्गत जीवन बीमा निगम द्वारा नोडल एजेंसी के सहायता से कार्य तय करेंगे, 60 वर्ष पूरे होने के बाद ही इस योजना का लाभ प्राप्त होगा। इसके लिए केवल ऑनलाइन आवेदन स्वीकृत किए जाएंगे पेंशन की राशि ₹3000 प्रतिमा रखी गई है जो अन्य पेंशन के मुकाबले कई गुना ज्यादा है।

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2020 हेतु पात्रता

● आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
● आवेदक के पास व्यापार से संबंधित दस्तावेज होनी चाहिए।
● आवेदक की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
● आवेदक जीएसटी पंजीकरण संख्या के अंतर्गत आना चाहिए।
● आवेदक का खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज

● आधार कार्ड
● पैन कार्ड
● व्यवसाय से संबंधित दस्तावेज
● जीएसटी पंजीकरण संख्या
● मूल निवास प्रमाण पत्र
● पासपोर्ट साइज का फोटो
● मोबाइल नंबर
● पैन कार्ड
● पहचान पत्र

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2020 के लिए आवेदन कैसे करें

● जो व्यक्ति इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है, उस लाभार्थी को आवेदन करने के लिए अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में संपर्क करना होगा।
● जन सेवा केंद्र में जाने के बाद आपको कुछ दस्तावेज की सूची भी जाएंगी उन दस्तावेज को आप अपने पास रखें।
● अब जन सेवा केंद्र के अधिकारी के द्वारा आपको एक फॉर्म दिया जाएगा उस फॉर्म को आप भर दे और संबंधित दस्तावेज कर दे इसके बाद उन्हें संबंधित अधिकारी के पास जमा कर दें।
● अब आपका फॉर्म जन सेवा केंद्र के अधिकारी के द्वारा ऑनलाइन भर दिया जाएगा।
● ऑनलाइन आवेदन करने के बाद यह एक फाइनल रूप से जमा कर लिया जाता है और कुछ दिनों बाद आपको सूचित किया जाएगा।
● इस तरह से आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2020 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करना है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का लाभ प्राप्त कर सके और अपनी आर्थिक स्थिति सुधार सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here