बैंक क्या होती है, जानिये बैकिंग से जुडी सभी बातें | What is Bank | Know About Banking System

105

आपने बैंक (Bank) का नाम जरूर सुना होगा। बैंक का नाम सुनते दिमाग में एक ऐसी बिल्डिंग की इमेज बनती है ​जहां पर हम खाता (Account) खुलवाते हैं, पैसे जमा करने या पैसा निकालने जाते हैं। बैंकों से लोन (Loan) प्राप्त करते हैं। बैंक असल में हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गया है। लेकिन बैंक क्या होती है और ये कैसे काम करती है ये सवाल अगर आपके मन में आया है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आऐं हैं। मोदी सरकार की प्रधानमंत्री जनधन योजना के बाद बैंक लगभग हर परिवार का हिस्सा बन चुकी है।

बैंक क्या होती है (what is Bank)

बैंक एक वित्तीय संस्था (Financial Organisation) होती है जो कि हमारी वित्तीय जरूरतों को पूरा करती है। बैंक में हम अपना पैसा जमा करते हैं और जरूरत पढ़ने पर निकाल भी सकते हैं। हमारा पैसा बैंक में सुरक्षित रहता है साथ ही हमें उस पैसे पर कुछ ब्याज (Interest) भी मिलता है। इसके अतिरिक्त हम बैंक के माध्यम से पैसों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक कम समय में और सुरक्षित तरीके से भेज सकते हैं या मंगा सकते हैं। इसके अतिरिक्त बैंक हमारी कुछ अन्य वित्तीय जरूरतों को भी पूरा करती है जैसे हमारे भुगतानों का प्रबंध करना हमें लोन देना आदि।

बैंक धनराशि के जमा निकासी लोन के अतिरिक्त भी कुछ काम करती हैं। जैसेए सुरक्षा के लिए लोगों से उनके आभूषणादि बहुमूल्य वस्तुएँ जमा रखनाए अपने ग्राहकों के लिए उनके चेकों का संग्रहण करनाए व्यापारिक बिलों की कटौती करनाए एजेंसी का काम करनाए गुप्त रीति से ग्राहकों की आर्थिक स्थिति की जानकारी लेना देना। अतरू बैंक केवल मुद्रा का लेन देन ही नहीं करते बल्कि अन्य फाइनेंन्स से जुडे काम भी करते हैं।

बैंक क्या क्या काम करती है (What is work of Bank)

आम तौर पर बैंक हमारी पैसों के लेन—देन का काम करती है लेकिन इसके अतिरिक्त भी बैंक के कई कार्य होते हैं जो हमारी दैनिक जीवनों के लिये बहुत जरूरी होती हैं। अगर बैंके न होती तो हमें बहुत परेशानी उठानी पड़ती।

बैंक में हम अपने पैसों को सुरक्षित रख सकते हैं

बैंक में हम लोग अपने पैसों को जमा कर सकते हैं जिसके बाद हम जब चाहे अपनी जरूरत के हिसाब से बैंक से पैसे निकाल सकते हैं। घर में पैसे रखने के बजाय बैंक में पैसा रखना ज्यादा सुरक्षित होता है और फायदेमंद भी। क्योंकि हम जो पैसा बैंक में जमा करते हैं बैंक उस पैसे पर हमें कुछ ब्याज भी देती है जिससे हमारा पैसा बढ़ जाता है।

पैसों को एक जगह से दूसरी जगह भेजने का काम करती है

मान लीजिये अगर आपको एक लाख रूपये किसी दूसरे शहर में किसी व्यक्ति को भेजने हैं तो हमारे सामने बहुत सी समस्याऐं हो जाती है जैसे पैसों को ले जाने में समय लगना या ले जाते समय चोरी हो जाने, खो जाने का ड़र वहीं अगर जिस व्यक्ति को पैसे दिये वो व्यक्ति पैसे लेने के बाद मुकर जाऐ तो क्या करेंगे। बैंक हमारे इसी काम को आसान करती है। हमें जिस व्यक्ति को पैसे भेजने हैं उसे हम कुछ ही मिनटों में उसके बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं। इससे हमारे आने—जाने का समय तो बचा ही साथ ही साथ वो व्यक्ति भी हमारे साथ बेईमानी नही कर सकता है क्योंकि हमारे द्वारा भेजे गये पैसे का लेखा जोखा हमारी बैंक के पास होता है वहीं हम जिस व्यक्ति को पैसा भेज रहे हैं उस ब्यक्ति की बैंक भी यह रिकार्ड रखती है कि उसे पैसे प्राप्त हो गये हैं।

बैंक लोन देने का काम करती है

अगर हमें किसी कारण के लिये पैसों की जरूरत है तो हम बैंक से पैसे उधार भी ले सकते हैं बदले में हमें बैंक को कुछ ब्याज देना होता है। बैंक ​द्वारा दिये गये उधार को हम लोन कहते हैं। बैंक Personal Loan, Home Loan, Vehicle Loan, Business Loan सभी प्रकार के लोन देती है।

बैंक Third Parties के साथ मिलकर हमारे वित्तीय लेन—देन में में मदद करती है

मान लीजिये आपको सरकार द्वारा कोई पैसे मिलने वाले हैं, आपको सैलरी मंगानी हैं या फिर इंश्यारेंस का प्रीमियम जमा करना है या इंश्योरेंस को क्लेम करना हैं तो आपको पैसे कैसे मिलेंगे। आपको ये पैसे बैंक के माध्यम से ही मिलेंगे। बैंक खुद भी इंश्योरेंस करती है।

बैंक ग्राहकों को लॉकर देती हैं

अगर आपके पास कोई कीमती सामान जैसे जेबरात या अन्य कोई चीज है जिसे आप घर में रखना असुरक्षित समझते हो घर में रखने से उसके चोरी हो जाने का ड़र है तो बैंक इसके लिये लॉकर भी देती है जहां आप अपने सामान का रख सकते हो।

बैंको के प्रकार (Type Of Banks)

केंन्द्रीय बैंक ( Central Bank)
सार्वजनिक बैंक (Public Sector Bank)
निजी बैंक (Private Sector Bank)
सहकारी बैंक (Cooperative Bank)
विकास बैंक (Development Bank)
वाणिज्यिक बैंक (Commerce Bank)

भारत में बैंक का इतिहास (Banking History in India)

भारत में बैंकिंग व्यवस्था (Banking System) करीब दौ सौ वर्ष पुरानी हैं। ईस्ट इण्डिया कम्पनी (East India Company) द्वारा सर्वप्रथम भारत में तीन बैंक स्थापित किये गये जिनके नाम बैंक ऑफ बंगाल, बैंक ऑफ बॉम्बे, बैंक ऑफ मद्रास थे। इलाहाबाद बैंक भारत का सबसे पहला निजी बैंक था। भारतवर्ष में इस समय कई अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की बैंक श्रंखलाऐं है। भारतीय स्टेट बैंक सबसे बडी बैंक श्रंखला है। भारत में संचालित सभी बैंको को माॅनीटर करनें के लिये एक सेण्ट्रल बैंक है जिसे हम भारतीय रिजर्ब बैंक आफ इण्डिया (RBI) के नाम से भी जानते हैं।

बैंक कार्य कैसे करते हैं

बैंक अपने ग्राहकों का भरोसा दिलाते हैं कि उनकी धनराशि बैंक में सुरक्षित रहेगी और धनराशि जमा करनें के एवज में बे कुछ ब्याज भी आफर करते हैं। जिससे लोग बैंक में धनराशि जमा करते हैं। उसी धनराशि को बैंक दूसरे जरूरतमंद लोगों को लोन देती हैं और उनसे ब्याज लेती है। वहीं कुछ बैंक जमा धनराशि को इन्वेस्टमेंट प्लान में जैसे शेयर मार्केट, म्युचुअल फण्ड या अन्य कोई प्लान में इन्वेस्ट करते हैं। यहीं बैंको की आय का प्रमुख स्त्रोत होता है। वहीं ग्राहक को कुछ एडवासं सेवाऐं देने के बदले भी बैंक कुछ चार्ज करती है। सम्पूर्ण बैंकिंग व्यवस्था को एक केन्द्रीय बैंक माॅनीटर करता है। जिसका नियन्त्रण सरकार के हाथों में होता है। भारत में रिजर्ब बैंक केन्द्रीय बैंक है। ये केन्द्रीय बैंक ही मुद्रा छापने का काम करता हैए और बैंको के लिये नियम निर्धारित करता है।

बैंक कैसे इनकम करती है

अब आपके मन में ये सवाल भी आता होगा कि बैंक में इतने सारे कर्मचारी काम करते हैं। बिल्डिंग, बिजली, इंटरनेट का किराया, कर्मचारियों की सैलरी आदि खर्चे बैंक को करने होते हैं। हम जो पैसा बैंक में जमा करते हैं बैंक उस पैसे पर हमें ब्याज भी देती है तो फिर आखिर बैंक कैसे इनकम करती है। दोस्तो जान लीजिये बैंक आपके पैसे से ही पैसा कमाकर आपको भी ब्याज देती है और अपनी खर्चे भी पूरे करती है और अपनी प्रॉपटी भी जमा करती है। आप जो पैसा बैंक में जमा करते हैं बैंक उस पैसे को किसी दूसरे व्यक्ति को लोन दे देती है और उससे जो ब्याज बसूलती है वो बैंक की कमाई होती है। इसके अलावा बैंक आपसे डेबिट कार्ड, चेकबुक, मनी ट्रांसफर व आदि सर्विस के लिये कुछ चार्ज भी लेती है। इस प्रकार बैंक इनकम करती है।

भारत में संचालित प्रमुख बैंक

Public Sector Bank List
इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank)
आंध्रा बैंक (Andhra Bank)
बैंक ऑफ बडौदा (Bank Of Baroda)
बैंक ऑफ इंडिया (Bank Of India)
बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank Of Maharashtra)
भारतीय महिला बैंक (Indian Women Bank)
केनरा बैंक (Canara Bank)
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (State Bank Of India)
कॉर्पोरेशन बैंक (Corporation Bank)
देना बैंक (Dena Bank)
आइडीबीआई बैंक (IDBDI Bank)
इंडियन बैंक (Indian Bank)
ओरिएण्टल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce)
पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank)
पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab and Sindh Bank)
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank Of India)
सिंडिकेट बैंक (Syndicate Bank)
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank Of india)
विजया बैंक (Vijya Bank)
Private Sector Bank List
एक्सिस बैंक लिमिटेड (Axis Bank)
धनलक्ष्मी बैंक लिमिटेड (Dhanlaxmi Bank)
फेडरल बैंक लिमिटेड (Federal Bank Limited)
एचडीएफसी बैंक लिमिटेड (HDFC Bank Limited)
आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड (ICICI Bank Limited)
इंडसइंड बैंक लिमिटेड (Indusland Bank)
कर्नाटक बैंक लिमिटेड (Karntak Bank Limited)
कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड (Kotek Mahindra Bank Limited)
यस बैंक लिमिटेड (Yes Bank Limited)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here