उर्दू शब्द के हिंदी मतलब। उर्दू के सभी शब्दों का हिंदी अर्थं

अंगवी— स्त्री (फा0) शहद, मधु

अंगुश्त — पु0 (फा) उंगली

अंगुश्तनुमाई — वि0 (फा0) जिसकी ओर लोगों की उंगलिया उठें, किसी काम में विशेपत, किसी बुरे काम में प्रसिध्द

अंगुश्तरी- स्त्री0 (फा0) अंगूठी मुद्रिका |

अंगुश्ताना – पु0 (फा) उंगली पर पहनने की लोहे या पीतल टोपी जिसे दरजी सीते समय एक उंगली में पहन लेते है, २. हाथ के अंगूठे की एक प्रकार की मुदरी आरसी अड़सी |

अंगूर– पु0 (फा) एक लता और उसके फल का नाम जो बहुत मीठा और रसीला होता है दाख द्राक्षा मुहा0 – पु0 अंगूर का मडवा या अंगूर की टटटी अंगूर की बेल के चडने और फैलने के लिए बोस की बेल की फटीटयो का बना मंडप २. एक प्रकार की आतिशबाजी ३. जख्म के भरने के समय उसमे दिखाई पड़ने वाली लाली

अंगूरी – वि0 (फा) अंगूर से बना हुआ अंगूर के रंग का |

अंगज – वि0 (फा) उत्तेजित करने वाला भडकाने वाला योगिक शब्द के अंत में

अंजबर – पु0 दे0 अंजुबर

अंजाम – पु0 ( फा) अंत समाप्ति २. पारीणम फल

अंजीर – पु0 (फा) गुलर की जाती का एक दस्तावर फल

अंजुबर – पु0 (फा) एक प्रकार का पोधा जिसकी पत्तिय आदि दवा के काम में आती है |

अंजुम – पु0 अ0 नजम का बहुवचन सितारे तारे|

अंजुमन – पु0(फा) सभा , संस्था, मजलिस,

अकडबाज – वि. ( ही. अकड़ना, फा. बाज ) ( स. अकडबजी अभिमानी, घमंडी २. लड़ाका |

अकदस – वि0 (आ) अक्दास पवित्र श्रेठ |

अकव – पु. (आ) पिछला भाग, पीछा

अकबर – वि0 (फा) अकबर अकबिर, बहुत बड़ा महान.

अकबरी – स्त्री0 (फा) अकबरी एक प्रकार की मिठाई

अकरकरहा – पु.(आ) अकरकरा नमक, प्रसिद ओपधी |

अकरब – पु. (आ) अकब, बिच्छु, व्रशिच्त राशी.

अकरिबा – पु. (आ) अकरब का बहु0, (अ0 करीब से ) रिश्तेदार, सम्बन्धि,

अकरुबा – पु. दे० अकरिबा

अकलन– कि० वि० (अ० आकलन ) समझ में,

अकलिम – स्त्री0 (अ०) (बहु) अकालिम देश प्रान्त.

अक्ल्लन – वि० (अ०) थोडा कम

अक्ल्लिय्त – स्त्री (अ०) अल्पमत, अल्पसंख्या समाज.

अकवाम स्त्री (अ० अकवाम ) कोम का बहुवचन

अक्सर कि० वि० अक्सर

अकसाम – पु० ( अ० ) अ० अकसाम किस्म का वहुवचन २. कसम का वहुवचन शपथ

अकसीर – वि० दे० अक्सीर

अकायद – पु० (अ०) अ० अकीदा का वहुवचन

अकरिव -वि० (अ०) करिब का वहु० रिश्तेदार, सम्बंन्धी .

अकालिम – स्त्री0 (अ०) अक्क्लिम का वहुवचन

अकिरवा – पु० दे० अकरिबा

अकिक – पु. (अ०) एक प्रकार का लाल पत्थर जिस पर मोहर खोदी जाती है

अकिका – पु० अ० अकिक नवजात शिशु का मुंडन जो मुसलमानों में जन्म से छाठे दिन होता है

अकीद – वि० (अ०) द्रत्थ पुष्ट

अकीदत– स्त्री (अ०) किसी धर्म की वह मूल बात जिसे मन लेने पर मनुष्य उस धर्म में सम्मिलित हो जाता है २. धार्मिक विश्वास

अकीदा – पु० (अ०) अकीद ( वाहू)

अकायद– मन में होने वाला द्रढ़ विश्वास धर्म मजहब

अकीम – वि. (अ०) ( स्त्री ) (अकिमा) नि:संतान बाँझ

अकिल– पु0 (अ०) स्त्री अकिमा )

अक्लमंद – बुद्धिमान

अकुबत – स्त्री (अ०) १. सम्बन्ध स्थापित करना जोड़ना २. विवाह ,शादी, ३. विकय, बेचना , ४. इकरार

अकद नामा – पु० ( अ०+फा0) विवाह का इकरारनामा |

अकद बंदी – स्त्री (अ०+फा0) १. करार करना, निशचय करना, २. विवाह सम्बन्ध , स्थपित करना|

अकदस – वि. (अ०) परम पवित्र

अक्ल – पु० ( अ०) खाना, भोजन , यो० अक्ल -व – शुब खाना पीना

अक्ल – स्त्री (अ०) बुधि , समझ , प्रज्ञा

अक्लमंद – वि०(अ०+फ़ा०) समझदार , बुद्धिमान .

अक्लमंदी – स्त्री (अ०) समझदारी, बुधिमत्ता

अकली – वि०(अ०) १. अक्ल या बुधिसबन्धी २.तर्क्सिध उचित वाजिव |

अक्स – पु०(अ०) १. प्रतिबिंब छाया , परछ्ही २. चित्र तस्वीर

अक्सर – कि० वि०(अ०) प्राय बहुध अधितर वि० बहुत अधिक

अक्सरियत – स्त्री (अ०) १. वहुमत २. बहुसंखिया समाज

अक्सी – वि० (अ०) अक्स छाया सम्बन्धी जैसे अक्सी तस्वीर ,छायाचित्र, फोटो

अक्सीर – स्त्री (अ०) १. वह रस या धातु, जो किसी धातु को सोना या चांदी बना दे | रसायन , कीमिया २. सब रोगों को नष्ट करने वाली दवा २. वि०अव्यर्थ बहुत गुद्कारी

अखगर – पु० (फा) अखगर ) आग की चिंगारी

अखाज – पु०(अ०) १. ले लेना ग्रहण करना २. उद्घाटन करना

अखजर – वि०(अ०) हरा, यो०बहार उल अख्जर – अरब से भारत तक का समुन्द्र

अखनी – स्त्री (फ़ा०) यख़नी ) मांस का रसा , शोरबा

अख़बार– पु० (अ०) अख़बार खबर का बहु०, समाचारपत्र, संवादपत्र , खबर का कागज

अख़बार – नसीम पु०(अ० अख़बार+फा0 ) अख़बार लिखनेवाला , संपादक .

अख़लाक़ – पु०(अ०अख़लाक़ खुल्क का बहु०) १. आचार २. आदत , ढंग , ३. मुरव्वत , निति |

अखलाकी – वि० (अ०) अखलाकी १.अख़लाक़ या शिलसंबन्धी , २. निति संबन्धी , नीतिक |

अखवाल– पु० (अ०) अख़लाक़ का बहु०) भाई , सहोदर , भ्राता .

अखीर – पु०दे० आखीर,

अखुर – पु० दे० आखोर |

अख्तर – पु० (अ०) तारा , सितारा .

अखित्यार – पु० इखित्यार (अधिकार ) |

अगर – अव्य ( फ़ा०) यदि जो |

अगरचे – अव्य (फ़ा०) अगरचे , यधपि , यदि ऐसा है

अगराज – स्त्री (अ०) आगाज गरज का बहु | १. मतलब , अभिप्राय , २. अवश्यकताए ३.उददेश्य

अगलब – कि० वि० (अ०) अग्लब बहुत करके, बहुत सम्भव है की

अगलबगल – कि० वि० (अ० बगल ) इधर उधर, आसपास

अज – प्रत्य (फ़०) से ( वीभ्कित ) जैसे अज जानिब की तरफ से, अज तरफ की तरफसे , अज रे के अनुसार अज रे कानून विधि के अनुसार

अजकार – पु० (अ०) १. जिक्र का बहुवचन २. इश्वर की प्रशंसा ३. उपासना

अजखुद – कि० वि० ९फ़०) स्वय आपसे आप

अजगेबी – वि० (फ़०) १. छिपा हुआ २. रहस्यपूर्ण

अजजा – पु० (अ०) अजजा जुज का बहु० १. किसी चीज के टुकड़े या अंग २. भाग अंश

अजदाहम – पु०(फ़०) अजदहा बहुत बड़ा सांप , अजगर

अजदहाम – पु०९अ०) इज्दिहाम ) लोगो का झुण्ड , भीड़

अजदाद – पु० (अ०) अजदाद बाप दादा पूर्वज , पुरखे , यो० आबा व् अजदाद पूर्वज

अजनबी – पु०(अ० अजनबी ) परदेशी २. दुसरे शहर या देश से आया हुआ आदमी , वि० अपरिचित अज्ञात २. अंजन ण वकिर

अजनास – स्त्री ९अ०) १. जींस का बहु० २. अनेक प्रकार की वस्तुए ३. घर घरहस्थी की सामग्री , असबाब

अजब – वि0 ( अ०) विल्षण , अद्भुत विचित अनोखा |

अजबर – की वि० (फ़०) केवल समरण शक्ति से जबानी जैसे अजबर सारी गजल कहे

अजवास – अ० (फ़ा०) बहुत अधिक |

अजम – पु० ९अ०) अजम ) अरब के आस पास के ईरान और तुरन आदि देश

अजमत – स्त्री (अ०अजमत ) बडप्पन बुजुर्गी , महत्ता

अजमी – पु०(अ०) अजमा देश का निवासी ईरानी

अजर – पु० दे० अर्ज

अजरक – वि०अ० ( अजक ) नीला

अजराम – पु० (अ० अजाम जीरम = शारीर का बहु० १. शारीर २. पिंड यो० अजरामे फलकी = आकाश में घुमने वाले पिंड ( गृह नक्षत्र आदि )

अजराए – कि० वि० (फा ) अनुसार जैसे अजराए इमान = इमान से

अजल – स्त्री (अ०) म्रत्यु , मोत यो० अजल रसीदा या अजल गिरिफ्ता = १. जिसकी मोत आई हो २. शामत का मारा

अजल – स्त्री (अ०) आराम २. मूल उदगम ३. अनादी काल यो०रोजे

अजला – पु० अ० जिला का बहुवचन

अजली– वि० (अ०) ` सदा से रहने वाला शाशवत

अज्ल्ल – वि0 ( अ० ) १. बड़ा , बुजुर्ग , २. सुप्रतिष्ठित ३. बहुत निचा या घ्रणित

अजसरेनी – कि० वि० (फ़०) नये सिरे से बिलकुल आरम्भ से

अहसाम – पु० अ० जिस्म का बहु०

अजहद – वि०(फा0) हद से ज्यादा , बहुत अधिक .

अजहद – वि०(फा0) हद से ज्यादा , बहुत अधिक .

अजहर– वि० (अ०) जाहिर , प्रकट |

अंजा – कि० वि० (फ़ा० अज +आ) इससे इसलिए | यो०बादअनजा = इसके बाद

अजाजिल – पु० (अ०) शोतान द्रस्ट आत्मा

अजान – स्त्री0 (अ०) नमाज की पुकार जो मस्जिद में होते है बंग, कि० अ० अजान देना

अजाब – पु० (अ०) १. दुःख | कस्ट २. संकट , विप्पत्ति ३. पाप दुषकर्म

अजायब – वि०(अ०) अजीब का बहु०

अजायबखाना – पु० (अ०+क०) अद्भुत पदार्थ संहालय

अजीज -वि० (अ०) १. माननीय प्रतिष्टित २. प्रिय प्यारा यो०

अजीज– अल्कादर प्रिय प्यारा ३. सम्बन्धी रिश्तेदार पु० सम्बन्धी सुहूद

अजीब– वि० (अ०) विलक्ष्ण अद्भुत यो०अजीब व गरीब = बहुत शानदार परम विलक्ष्ण

अजीम – पु० (अ०) वृद्ध पर पूज्य वि० बहुत बड़ा विशाल कय महान यो० अजीम- उश्शन = बहुत शानदार

अजीयत – स्त्री (अ०) किसी को पहुचाई जाने वाली पीड़ा , अत्याचार

अजुका – पु० (अ०) आजुक मि० स० आजीविका ) १. खाने की सामग्री , भोजन २. अल्पवेतन

अजूबा– पु० (अ० अजूबा ) १. विलक्ष्ण पदार्थ २.करामात वि० विलक्ष्ण अद्भुत

अजो – पु० (अ० अजब ) १. शारीर का अंग अवयव २. अंश हिस्सा

अज्जा -पु० (अ०) १. अजिजी , नर्मता लाचारी

अज्म-पु०(अ०) अक्षरों पर नुकते या बिंदिया लगना

अज्म – पु० (अ०) दृढ विचार पक्का निश्चय | यो०अज्म बिल्ज्ज्म = दृढ निश्चय

अजमत– स्त्री दे० अजमत

अज्ञ – पु० (अ०) १. परिशामिक २. पुरस्कार ३. बदले में दिया जाने वाला धन या किया जाने वाला उपकार फल ४.खर्च व्यय | लगता

अतका – पु० (तु०अतक ) दाई या धय का पति

अतफाल – पु०(अ० तिफल का बहु०) १. लड़के , बालक , बाल बच्चे , संतान , यो०अयाल व अतफाल = स्त्री – पुत्र आदी

अतराफ – पु० (अ० अत्राफा ) तरफ का बहु०

अतलस – स्त्री (अ० अत्लास ) एक प्रकार का बहुत मुलायम रेशमी कपड़ा

अतवार– पु० (अ० अतवार तोर का बहु०२. तोर तरीका , रंग ढंग , ३. चाल चलन , रहन सहन

अता– पु० (अ०) प्रदान , दान : जैसे अता करना = प्रदान करना , यो० अतानामा = दान पत्र

अताई – पु० (अ० अता ) १. वह जो अपने ईश्वरदत्त गुणों के करण आपसे आप कोई काम सिख ले , बिना किसी शिक्षक की सहायता से सव्य कोई कम करने वाला

अताब -पु० दे० इताब

अत्ताब्क – पु० (फ़ा०) १. स्वमी , मालिक २. राजा या प्रधान मंत्री की एक उपाधि

अत्तालिक– पु०(तु०) १. शिष्टाचार सिखने वाला २. उस्ताद , गुरु , शिक्षक

अतालिकी– स्त्री (तु०) अतालिक वा शिक्षक का कार्य या पद

अतिब्बा – पु० (अ०) तबीब का बहु०

अतिया – पु०(अ०अतिया 0 बहु०अतेयात 0 प्रदान की हुई वास्तु

अतुफत– स्त्री (अ०) दया , मेहेरबानी

अत्तार – पु०(अ०) १. बनाने और बेचने वाला २. ओषाधि आदि बेचने वाला

अत्तारी– स्त्री (अ०) अत्तार का काम या पेशा.

अत्फ़– पु०(अ०) १. इच्छा , ख्वाहिश , २. कृप , मेहरवानी ३. संयोजक अव्यय जैसे और

अद्क्क– वि० (अ०) बहुत कठिन , मुस्किल

अद्खाल-पु० = इद्खाल

अदद – स्त्री (अ०) १.संख्या , गिनती , २. संख्या का चिन्ह या संकेत , अंक

अदना – पु०(अ०) १. निचे दर्जे का २. निम्न , तुच्छ , ३. छोटा ४. बहुत सामान्या

अदन– वि० (अ०) स्वर्ग के उपवन

अदब -पु0(अ०) शिष्टाचार , कायदा बड़ो का अदार सम्मन

अदम– पु0 (अ०) ण होना , आभाव , अनस्तित्व . जैसे अदम इकरार = करार या अनुबंध का आभार , अदम तामिल = निष्पादन का आभार , अदम- पेरवी = परेवी का आभार , अदम मोजुदगी = मोजुदगी का आभार , अनूपासिथित अदम- हाजिरी फरीकैन= पक्षकारो की अनुपास्थित में , वि० परलोक का.

अदरक– पु० (फा. मि०स० अदरक ) एक पोधा जिसकी तिक्ष्क और चरपरी जड़ या गांठ ओशाध और मसाले के काम में आती है

अदल– पु० (अ० अदल ) १. न्याय, इंसाफ , न्यायशील .

अदवात– स्त्री (अ० अदात का बहु०) यंत्र , ओजार .

Urdu Hindi dictonary, Urdu shabd ka hindi matlab, hindi meaning of urdu words.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here