शिक्षा का महत्व पर निबंध

31

प्रस्तावना

शिक्षा का महत्व पर निबंध: जीवन में यदि सफलता पाना है तो शिक्षा से बेहतर हथियार कुछ भी नहीं है। आज पृथ्वी पर जितने भी विद्वान तथा वैज्ञानिक हुए हैं, उनका आधार शिक्षा ही है। उन्होंने कड़ी मेहनत तथा परिश्रम करके अपने क्षेत्रों में महत्वपूर्ण कार्य किए। यदि हम आदिकाल की बात करें तो शिक्षा का उतना ही महत्व था जितना आज है।

नेल्सन मंडेला का कहना है कि “शिक्षा से अच्छा ताकतवर हथियार कुछ भी नहीं है” इसीलिए आधुनिक दुनिया में भी शिक्षा को उतना ही जोड़ दिया जाता है जितना हमें भविष्य में होने वाली समस्याओं तथा सुख सुविधाओं का अनुभव करा सकें।

भारत के भी महापुरुष तथा महात्माओं ने अपने शिक्षा के माध्यम से ही लोगों को ज्ञान की प्राप्ति करवाई, उन्होंने अपने ज्ञान के माध्यम से ही भारत को अंग्रेजों से मुक्त कराया। ग्रामीण क्षेत्र में भी शिक्षा के महत्व को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई प्रकार की योजनाएं तथा जागरूकता अभियान भी चलाती है ताकि वहां पर अच्छे समाज का निर्माण कर सकें शिक्षा ही एक ऐसा रास्ता है जिससे सफलता के अवसर खुलते हैं और अपने करियर में कई विकास के कार्य करने के लिए शक्ति मिलती है।

शिक्षा का मतलब क्या है?

शिक्षा मस्तिष्क से जुड़ी हुई एक विचारधारा होती है, जो सकारात्मक तथा नकारात्मक दोनों हो सकती है। बचपन से ही हमारे माता-पिता हमे शिक्षा के महत्व को समझाते आ रहे हैं इसके माध्यम से सही और गलत के बीच का अंतर पता चलता है। इसके अलावा इसके माध्यम से हम तकनीकी तथा उच्च कौशल ज्ञान को भी प्राप्त कर सकते हैं। शिक्षा का सबसे बड़ा उपहार यह है कि हमें मूल्यवान ज्ञान तथा प्यार प्राप्त होता है।
हमें कड़ी मेहनत तथा आत्म सम्मान के महत्व के बारे में भी पता चलता है। यदि शिक्षा जीवन में ना हो तो सुखमय जीवन की कल्पना ही करना व्यर्थ होगा। शिक्षा के माध्यम से हम अपने जीवन में तीन पहलुओं को विकसित करने की कोशिश करते हैं काया, मानसिकता और चरित्र इसमें सबसे महत्वपूर्ण चरित्र होता है, क्योंकि इसी के माध्यम से हम एक अच्छे समाज का निर्माण करते हैं।

जीवन में शिक्षा की भूमिका

आज के समय में जब मनुष्य आतंकवाद, गरीबी, आपातकाल, जलवायु परिवर्तन आदि जैसे बड़े खतरों को से निपटने की कोशिश कर रहा है। उसके पीछे कहीं न कहीं एक अच्छी शिक्षा का हाथ है। अच्छी शिक्षा के साथ लोग अच्छे निर्णय लेने में सक्षम होते हैं और इन समस्याओं का समाधान करने के लिए लग जाते हैं। प्रत्येक देश के लिए शिक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण है। शिक्षा की शुरुआत वैसे तो हमारे घर से ही होती है। अधिक शिक्षित ही जीवन में सफलता और अपार सुख प्राप्त करता है।

हमें शिक्षा एक अच्छा ज्ञान तथा स्वस्थ जीवन प्रदान करती है। शिक्षित लोग खुशहाल जीवन जीते हैं अच्छी शिक्षा के साथ हम एक अच्छे भविष्य की कामना कर सकते हैं। यदि हमारे पास पैसा नहीं है तो हम अपने ज्ञान के माध्यम से अच्छा पैसा कमा सकते हैं। आज दुनिया में वैज्ञानिक, डॉक्टर और इंजीनियर जिन्होंने अपने ज्ञान से ऐसे कई कारनामे किए हैं जिन को झुठला नहीं जा सकता है।

ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा का महत्व

आज भी भारत में कई इलाके हैं जहां पर अशिक्षित लोगों की तादाद ज्यादा है यदि हम बात करें तो ग्रामीण इलाकों में नहीं अच्छे स्कूल होते हैं और ना ही मार्गदर्शक होते हैं। वास्तव में ग्रामीण इलाकों की हालत इतनी खराब है कि वहां पर यदि सरकारी योजनाओं को लागू भी किया जाता है तो उन तक नहीं पहुंच पाती है। इसका कारण केवल अज्ञानता है क्योंकि वहां के बड़े तथा परिजन शिक्षित नहीं है। उनके पास केवल रूढ़िवादी सोच तथा पारंपरिक विचारधारा ही है। ग्रामीण इलाकों में आज भी लोगों को टीवी तथा अखबार प्राप्त नहीं हो पाते हैं। एक शिक्षित व्यक्ति ही अच्छे परिदृश्य का निर्माण कर सकते हैं। यदि भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में भी उपयुक्त शिक्षा का ज्ञान दिया जाए तो आज भारत विकासशील देशों से हटकर विकसित देशों में गिना जाएगा।

शहरी क्षेत्र में शिक्षा का महत्व

भारत की शिक्षा प्रणाली दो भागों में बैठी होती है। ग्रामीण इलाकों के लिए तथा दूसरी शहरी इलाकों के लिए इन दोनों शिक्षा प्रणाली में काफी अंतर होता है। शहरी क्षेत्रों की बात की जाए तो यहां पर सारी आधारभूत सुख सुविधा प्रदान की जाती है ताकि बच्चों को किसी प्रकार की समस्या ना हो इसके साथ ही उन्हें स्कूल या कॉलेज में अच्छे शिक्षक मिलते हैं। जिनके माध्यम से बच्चे अपने सपनों को साकार करने में सफल होते हैं। शहरी इलाकों में जगह-जगह पर स्कूल तथा कॉलेज बनाए जाते हैं। इसके साथ ही सरकारी स्कूलों की भी हालत काफी अच्छी होती है बच्चों के पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद का भी ध्यान दिया जाता है उसे भी एक शिक्षा का अंग माना जाता है इसीलिए शहर के बच्चे हमेशा हर क्षेत्र में अच्छे होते हैं।

उज्जवल भविष्य की कामना

यदि हम शिक्षा को एक ऐसा हथियार माने जिसके माध्यम से हम किसी भी समस्या का समाधान निकाल सकते हैं तो यह गलत नहीं होगा। शिक्षा चरित्र के साथ-साथ एक अच्छा उज्जवल भविष्य भी बनाने में सहायक होती है एक शिक्षित व्यक्ति हमेशा खुशहाल जीवन जीता है। वह अपनी प्रतिभाओं के माध्यम से नए-नए अनुसंधान करता है और नई ऊंचाइयों को प्राप्त करता है।

शिक्षा का महत्व पर निबंधशिक्षा उज्जवल भविष्य ही नहीं अपितु चरित्र निर्माण का भी कार्य करती है, आपको एक अच्छा नागरिक बनाती है परंतु इसी शिक्षा का अगर हम दुरुपयोग करें तो दुरुपयोग करे तो हमें बुरा भी बना देती है इसका सबसे अच्छा उदाहरण बराक ओबामा तथा ओसामा बिन लादेन दोनों के पास अपार ज्ञान है, परंतु उन्होंने अपने ज्ञान का इस्तेमाल अच्छे तथा बुरे कार्यों के लिए किए बराक ओबामा ने अपने ज्ञान का सदुपयोग किया और अमेरिका का राष्ट्रपति बनकर, ओसामा बिन लादेन को मार दिया जो कि एक आतंकवादी था।

आधुनिक शिक्षा प्रणाली

हमारी शिक्षा प्रणाली नि:संदेह दुनिया की सबसे अच्छी शिक्षा प्रणाली है। हमारे शिक्षा प्रणाली में स्वामी विवेकानंद के विचारों से लेकर महात्मा गांधी के विचारों तक शामिल किया जाता है हमें यह भी सिखाया जाता है क्यों शिक्षकों का आदर सर्वोपरि है। यदि हम विद्यालय में जाते हैं तो हमें यह भी सिखा जाता है। शिक्षकों का आदर सर्वोपरि है यदि हम विद्यालय में जाते हैं तो हमें शिक्षकों का आदर हमेशा करना चाहिए हमारी शिक्षा प्रणाली में आध्यात्मिक से लेकर नए आविष्कारों तथा आधुनिक दुनिया का ज्ञान भी करवाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here