पीएम हेल्थ आईडी कार्ड 2021

184

पीएम हेल्थ आईडी कार्ड: कोरोना वायरस का संक्रमण दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहा है आज दुनिया के हर देश में कोरोना वायरस पहुंच चुका है और वहां के जनजीवन पर असर डाल रहा है। इस वजह से वहां की आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक स्थिति तथा स्वास्थ्य संबंधी समस्या बढ़ती ही जा रही है। इसके लिए कई देश अपने अपने स्तर पर अपने देश के नागरिकों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाकर उनकी मदद कर रही है परंतु आज भी किसी प्रकार का उन नागरिकों के लिए उचित स्वास्थ्य संबंधी सुविधा उपलब्ध नहीं करा पाए हैं।

उन्हीं में से भारत भी एक ऐसा देश है जहां की आबादी लगभग 130 करोड़ से अधिक है यह देश जनसंख्या की दृष्टि से विश्व में दूसरे स्थान पर आता है इस को ध्यान में रखते हुए भारत की सरकार ने भी अपने नागरिकों के लिए कई योजनाएं चलाई है इन्हीं में से एक पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड है इस योजना का शुभारंभ देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। (ये भी जरूर पढ़ें:— प्रधानमंत्री रोजगार योजना 2020 क्या है? कैसे आवेदन करें)

आज हम इस लेख के माध्यम से आपको पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा यह भी बताएंगे कि इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें तथा इससे क्या-क्या लाभ प्राप्त होंगे।

पीएम हेल्थ आईडी कार्ड क्या है

भारत स्वास्थ्य के मामले में अन्य देशों के मुकाबले काफी पीछे हैं और यहां पर कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की एक आईडी कार्ड चलाया इस आईडी कार्ड का शुभारंभ देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। इसका संचालन स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा किया जाता है इसके अंतर्गत उन सभी रोगियों को एक हेल्थ आईडी कार्ड प्रदान की जाएगी जिसमें उस रोगी के बारे में सारी जानकारी लिखी होगी। यह पूर्ण तरह से डिजिटल होगा इसको केवल रोगी ही अपने पासवर्ड के माध्यम से खोल सकता है। यह एक यूनिक आईडी है जो देश का कोई भी नागरिक बना सकता है। इसके बनाने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं रखा गया है इसके अंतर्गत मरीजों को 14 अंक की आईडी के साथ अपने डॉक्टर के बिना कोई भी व्यक्ति खुल नहीं सकता है।

पीएम हेल्थ आईडी कार्ड का उद्देश्य क्या है

हमारा देश चिकित्सा के क्षेत्र में निरंतर सुधार कर रहा है यहां पर पर्याप्त डॉक्टर ना होने के कारण मरीजों को सरकारी तथा निजी अस्पतालों में काफी समस्या का सामना करना पड़ता है इसीलिए प्रधानमंत्री ने इस हेल्थ आईडी कार्ड का शुभारंभ किया है। इसका उद्देश्य यह है कि उन सभी मरीजों का समय पर इलाज हो सके और वह ठीक होकर अपने घर जा सके तथा सरकारी तथा निजी अस्पतालों में जो डॉक्टर दवाई आदि के कारण समस्या उठाना पड़ता था ।उससे निजात पा सकते हैं।

इसका यह भी उद्देश्य है कि आम नागरिकों को अपनी बीमारियों के बारे में लोगों को बताने में थोड़ी झिझक हुआ करती थी जिस वजह से वह समय पर उपचार करने में असमर्थ रहता था ।परंतु इस हेल्थ आईडी कार्ड के माध्यम से उसके बीमारी के बारे में सारी जानकारी गोपनी रहेंगी और इसका पासवर्ड भी रहेगा जिसको केवल बीमार व्यक्ति ही खोल सकता है। इसको खोलने का अधिकार डॉक्टर के पास भी नहीं होगा बिना मरीज के इसे डॉक्टर भी नहीं खोल सकता है। (ये भी जरूर पढ़ें:— प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Crop Insurance Scheme)

हेल्थ आईडी कार्ड के लाभ

● इसका सबसे अच्छा लग रहा है कि इसमें मरीजों की सारी जानकारी गोपनीय रखी जाएगी इसको किसी के साथ साझा नहीं किया जाएगा।
● इसके अंतर्गत केंद्र सरकार ने 500 करोड़ का बजट रखा है, जो इस योजना को सफल बनाने के लिए पर्याप्त है।
● इसके अंतर्गत मरीजों को एक यूनिक आईडी दी जाएंगी जिसका एक पासवर्ड और ओटीपी के माध्यम से खोला जाएगा।
● यह पूर्णता डिजिटल होने के कारण इसकी घूमने चोरी होने आदि की समस्या नहीं होगी और ना ही पेशेंट को रिपोर्ट ढूंढने के लिए इधर उधर जाने की आवश्यकता होगी।
● इसका यह भी लाभ है कि हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के साथ पेशेंट को आसानी से इंश्योरेंस का लाभ मिल जाएगा।
● इसके अंतर्गत आम नागरिक डिजिटल इंडिया से जुड़ेगा और उसके बारे में जानकारी भी प्राप्त करेगा ।
● पेशेंट को पर्ची बनाने के लिए अस्पतालों में लंबी कतार में खड़े रहने की आवश्यकता होती थी परंतु इसके माध्यम से वहां किसी भी कंप्यूटर सेवा केंद्र में जाकर बड़े आसानी से इस आईडी को बना सकता है।

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड की घोषणा कब की गई

इस महत्वकांक्षी तथा लाभकारी हेल्थ आईडी की घोषणा देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी। इस आईडी कार्ड के बारे में 15 अगस्त 2020 को दिल्ली के लाल किले से प्रधानमंत्री ने देश के नागरिकों के साथ साझा किया। इसमें इस हेल्थ आईडी के महत्व को भी बताया कि इससे आम नागरिकों को किन-किन बीमारियों तथा अस्पतालों के माध्यम से लाभ पहुंच पाएगा ।उन्होंने अपने भाषण में यह भी बताया कि यह आईडी कार्ड स्वास्थ्य जगत में एक बहुत बड़ी क्रांति ला सकता है जिसका सीधा लाभ आम नागरिकों को प्राप्त होगा।

हेल्थ आईडी कार्ड की महत्वपूर्ण बातें

● हेल्थ आईडी कार्ड 14 अंक की होगी।
● इसमें एक यूनिक क्यूआर कोड भी डाला जाएगा।
● इसमें मरीजों की सारी जानकारी गोपनीय रहेंगे।
● इसको पासवर्ड तथा ओटीपी के माध्यम से ही खोला जा सकेगा।
● इस आईडी कार्ड में बीमार लोगों की सारी जानकारी दर्ज होगी जिसमें ब्लड ग्रुप, डॉक्टर प्रिसक्रिप्शन रिपोर्ट, दवाइयां मेडिकल टेस्ट, आदि शामिल होंगे।

हेल्थ आईडी कार्ड 2021 हेतु आवश्यक दस्तावेज

● पैन कार्ड
● मोबाइल नंबर
● पासपोर्ट साइज का फोटो
● राशन कार्ड
● पासबुक बैंक खाता
● आधार कार्ड नंबर
● मेडिकल रिपोर्ट

हेल्थ आईडी कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

● सबसे पहले आवेदक को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की अधिकारिक वेबसाइट https://nha.gov.in/ में जाने की आवश्यकता होगी।
● अब आपके सामने एक होम पेज खुल जाएगा इस होम पेज में क्रिएट हेल्थ आईडी की लिंक पर क्लिक करें।
● अब एक और नया पेज खुल जाएगा जिसमें आपको क्रिएट यार हेल्थ आईडी नाम की लिंक दिखाई देंगे।
● उस पर आप क्लिक करें यदि आप आधार कार्ड के माध्यम से आईडी बनाना चाहते हैं। तो जनरेट वाया आधार कार्ड से लिंक के ऑप्शन पर क्लिक करें।
● यदि आप मोबाइल नंबर के माध्यम से आईडी बनाना चाहते हैं। तो मोबाइल नंबर दर्ज करके आप आईडी बना सकते हैं ।
● जैसे ही आप मोबाइल नंबर दर्ज करते हैं तो आपके मोबाइल में एक ओटीपी आएगा उस ओटीपी को नीचे दिए गए बॉक्स में दर्ज करें उसके बाद एक नया फोन खुल जाएगा।
● जिसमें आपसे कुछ जानकारी मांगी जाएगी जैसे नाम, आवेदक का पता, आवेदक की जन्म तिथि आदि सारी जानकारी उचित तरीके से भर दे और सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
● इस तरह से आप इस आईडी कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी संतुष्ट होंगे इस लेख का उद्देश्य पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करना है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस कार्ड का लाभ प्राप्त कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here