टाइम मैनेजमेंट कैसे करें | जरूरी टिप्स

भागदौड भरी इस जिन्दगी मे समय के अभाव की समस्या से हर कोई जूझ रहा है। जिन्दगी छोटी होती जा रही है और मनुष्य के कामों की लिस्ट बढती जा रही है। समय का अभाव इतना है कि हम अपने लिये और अपने परिवार के लिये समय नही निकाल पाते हैं। समय की कमी के कारण हम लगभग हर पल जल्दबाजी और हडबडी मे रहते हैं। इस चक्कर मे हमारा ब्लैड प्रेशन बढ जाता है, हम चिढचिढे हो जाते हैं और कई बार हडबडी मे दुर्घटना भी हो जाती हैं।

लेकिन क्या आपने देखा कि इस दुनिया मे ऐसे बहुत से लोग हैं जो हमसे ज्यादा काम करते हैं और हमसे ज्यादा जिम्मेदारी के साथ। लेकिन वे फिर भी अपने लिये समय निकाल पाते हैं। वे अपने परिवार के साथ छुट्टियॉ मनाते हैं और दोस्तो के साथ पार्टी करते हैं। लेकिन समय तो उनके पास भी 24 घण्टे का ही है। लेकिन उनके पास हमसे ज्यादा समय होता है। उनके पास कोई अतिरिक्त समय नही होता है लेकिन वो अपने समय को मैनेजमेंट करते हैं और अपने समय को अपने हिसाब से इस्तेमाल करते हैं आइये जानते हैं कि आप भी कैसे टाइम मैनेजमेंट करके समय के सही इस्तेमाल कर सकते हो।

विषय सूची

टाइम मैनेजमेंट क्या होता है

टाइम को अपने हिसाब से मैनेज करना ही टाइम मैनेजमेंट कहलाता है। टाइम मैनेजमेंट को हिन्दी मे समय प्रबन्धन कहा जाता है आइये सीखते हैं टाइम मैनेज के कुछ जरूरी टिप्स। जिन टिप्स को जानकर आप समय को अपने हिसाब से चला पाओगे।

समय लॉग (टाइम टेबल) बना कर रखें

जिस प्रकार हम पैसे के लिये बजट बनाते हैं कि कितना पैसा कहॉ खर्च करना होता है कहीं ज्यादा पैसा तो खर्च नही हो रहा है। इसी प्रकार समय का भी हिसाब किताब रखना जरूरी है। अगर आप समय को हिसाब किताब रखोगे तो आप जान पाओगे कि आप कहॉ कितना समय बेफिजूल मे खर्च कर रहे हो। आप एक छोटी सी डायरी मे एक सप्ताह के लिये ये नोट कर ले कि आप किस काम मे अपना कितना समय खर्च कर रहे हो।इससे आप की आॅखे खुल जाऐंगी आपको पता चल जाऐगा कि आप किस चीज पर कितना टाइम खर्च करते हो।  आपको अपने समय का पूरा अन्दाजा लग जाऐगा।

इसके बाद एक समय लॉग बनाऐं जिसे आम भाषा मे टाइम टेबल कहते हैं। इसमे आप ये लिखिये कि आप रोज कौन—कौन से काम करते हो और कितने समय करते हो। इसे आप साधा पेपर पर लिख सकते हो और चाहो तो कम्पयूटर पर एक्सेल सीट की मदद ले सकते हो। वहीं आप मोबाइल मे भी इसे सेट कर सकते हो। समय लॉग (टाइम टेबल) कुछ इस प्रकार से बनाऐं

सुबह 06:00 से 06:30 तकउठना, चाय बनाना, नित्य कर्म करना
सुबह 06:30 से 07:00 तकपडोसी से बातचीत करना, अखबार पडना
सुबह 07:00 से 07:30 तकटी0वी0, न्यूज देखना
सुबह 07:30 से 08:00 तकनहाना और पूजा-पाठ करना
सुबह 08:00 से 09:00 तकनाश्ता, तैयार होना
सुबह 09:00 से शाम 06:00 तकआ​फिस जाना
शाम 07:00 से शाम 09:00 तकदोस्तो की पार्टी, कार्यक्रम या समारोह में जाना
रात 09:00 से 10:00 तकटी0वी0 देखना
रात 10:00 से सुबह 06:00सोना

टाइम टेबल बनाने के बाद समय लॉग पर अमल करना भी सीखें। क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि लॉग टाइम टेबल तो बना लेते हैं लेकिन उस पर अमल नही करते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण काम पहले कर लें

अक्सर लोगों की दिनचर्या ऐसी होती है कि जो काम उनके सामने आता है उसे ही करने लग जाते हैं। जिसके कारण कई महत्वपूर्ण काम रह जाते हैं। इसलिये आप महत्वपूर्ण कार्यों की एक लिस्ट बना लीजिये, कि आपको इस सप्ताह या इस दिन कितने महत्वपूर्ण काम है जो हर हाल मे निपटाने हैं। उन कामों को पहले कीजिये। कुछ काम ऐसे हैं जो कि पूरे न भी हो तेा कोई फर्क नही पडता ऐसे कामों को बाद में कीजिये। अपनी प्राथमिकता स्पष्ट रखें फालतू के कामों मे अपना समय बरबाद न करें। महत्वपूर्ण कार्य की लिस्ट बनाना बेहद आसान है आप उन्हे कुछ इस तरह की लिस्ट मे बना सकते हो।

ए (अनिवार्य कार्य)बी (महत्‍वपूर्ण कार्य)सी (सामान्‍य कार्य)
1-1-1-
2-2-2-
3-3-3-
4-4-4-

यात्रा के समय भी उपयोग करे

सफल व्यक्ति अपने 24 घण्टों में ज्यादा से ज्यादा समय का उपयोग करता है। प्रत्येक व्यक्ति यात्रा करता है। लेकिन यात्रा मे होने वाला समय बरबाद हो जाता है। लेकिन सफल व्यक्ति इस समय का भी उपयोग करता है। महात्मा गॉधी यात्रा करते समय नींद लेते थे। जिससे वे तरोताजा हो सके। नेपोलियन जब सेना के साथ युध्द करने जाते थे तो रास्ते में पत्र लिखकर अपने समय का सदउपयोग करते थे। ऐडिसन यात्रा के दौरान अपने प्रयोग करते थे। बिल गेट्स फोन पर बात करते अपने काम निपटा लेते थे।

ज्यादातर लोग यात्रा के दौरान गाने सुनते हैं, गपशप करते हैं, और अखबार पढते हैं लेकिन वे ये नही जानते है कि इस समय वे प्रेरक पुस्तके पढकर और मो​टीवेशनल वीडियोज देखकर मोटीवेट हो सकते हैं। इसके अलावा कुछ ट्रैनिंग वीडियोज देखकर सीख सकते हैं। मशहूर ब्रिटिश एस्ट्रो— फिजिसिस्ट हर्मेन बॉडी को ज्यादातर विदेशों की यात्राऐं के दौरान अपने काम निपटा लेते थे। एक बार उनकी हवाई उडान मे विलंब हुआ तो उन्होने समय का सदयपोग करके एक रिसर्च पेपर लिख डाला। इसलिये यात्रा मे समय को बरबाद ने करें इसका सदउपयोग करके आप अपने काम निपटा सकते हो।

काम सौंपना (डेलीगेशन) जरूरी है

कोई भी व्यक्ति सब कुछ नही कर सकता है। बहुत से लोग सब कुछ करनें की कोशिश करतें हैं। और असफल हो जाते हैं। इसको लेकर एक कहावत भी मशूहर है जिसका काम उसी को साझे, और करें तो डण्डा बाजे

हर व्यक्ति चाहता है कि वो अपने महत्वपूर्ण कार्य खुद करे, लेकिन अगर वो सारे काम खुद ही करेगा तो उसे आगे बढने मे समय लगेगा क्योंकि सारे काम सही समय पर पूरे नही होंगे और इससे समय की बरबादी भी होगी। इसलिये जो ​काम सिर्फ आप कर सकते हो उन्हे आप करें और जिन काम से दूसरोें से कराया जा सकता है वो काम आप दूसरो से कराऐ।

काम सौंपने के लिये सबसे अच्छा तरीका है कि आप एक टीम बना लें। और उस टीम के प्रत्येंक सदस्य को उसका काम बॉट​ दिया जाता है। जिससे काम जल्दी होता है और काम मे गलतियॉ भी नही होती हैं। बस इसके लिये आपको ये ध्यान रखना होगा कौन सा काम किसे सौंपा जा सकता है​ जिससे काम की परफॉमेंस बनी रहे।

अपने प्राइम टाइम में काम करें

हमारे आपके लिये दिन के सभी 24 घण्टे एक से नही होते। पूरे दिन मे एक समय ऐसा जरूर होता है जब आप की ऊर्जा, कार्यशक्ति, उत्साह और कार्य क्षमा बाकी समय की तुलान में अधिक होती है। इस समय आप ज्यादा और बेहतर काम कर सकते हो। यही प्राइम टाइम होता है। इस समय आप ज्यादा जरूरी और जटिल कामों को निपटा सकते हो। प्रत्येंक व्यक्ति के लिये प्राइम टाइम अलग अलग हो सकता है। ज्यादातर लोगों के लिये प्राइम टाइम रात के समय होता है।

समय खरीदना सीखें

लोग समय के बदले धन को ज्यादा महत्वता देते हैं। लेकिन अगर आप के पास समय है तो आप और भी धन कमा सकते हो लेकिन आपके पास धन है तो भी आप समय नही कमा सकते हो। एंक इंच सोने से भी एक इंच समय नही खरीदा जा सकता है। लेकिन आप समय को महत्व देकर समय खरीद सकते हो। उदाहरण के लिये आपने देखा होगा कि ज्यादातर रिटार्यड कर्मचारी पैंसेन्जर रेज मे सफर करते हैं जबकि जो लोग नौकरी करते हैं और उन्हे जल्दी आॅफिस पहुॅचाना है या फिर व्यापारी लोग सुपरफास्ट मे सफर करते हैं वही कुछ लोग जिनका समय बेहद कीमती होता है वे लो हवाई जहाज से सफर करते हैं। क्योकि वे लोग समय की कीमत को अच्छे से समझते हैं वे अपनी यात्रा को तेज करके अपने समय को बचा लेते हैं जिसका उपयोग व अन्य कामों मे करत हैं। एक तरह से देखा जाऐ तो व पैसा खर्च करके समय खरीद लेते हैं। आप भी समय खरीद सकते हैं। मान लीजिये आपको बिजली का बिल जमा करने जाना है जो कि 1000 रूपये है इसके लिये आपको बिजली दफ्तर आने—जाने मे समय लगेगा, ये भी हो सकता है कि वहॉ लाइन लगी हो जो​कि अक्सर होता है। अगर मान लिया जाऐ कि आपका कम से कम घण्टा तो खराब हो ही जाऐगा। लेकिन अगर कोई ऐजेंट 20 रूपये लेकर आपका बिल जमा कर देता है तो माना जाऐगा कि आपने 20 रूपये मे एक घण्टा खरीद लिया। इसलिये समय को खरीदना सीखें।

सुबह जल्दी उठें

सुबह जल्दी उठने से आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा और आपका टाइम टेबल भी मैनेज रहेगा। ज्यादातर लोगा देर रात मे सोते हैं और देर सुबह उठते हैं जिससे उनके अन्दर पूरा दिन आलस रहता है जिससे उनके काम करने के परफॉर्मेंस मे कमी आती है। जिसका सीधा प्रभाव उनके समय पर पडता है। इसलिये जल्दी सोऐं और जल्दी उठें। इससे आपको पूरी नींद भी मिलेगी और आप रात का सदउपयोग कर पाऐंगे।

कुछ लोग तर्क देते हैं कि रात में शान्ति होती है कोई आपको डिस्टर्ब करने वाला नही हैं इसलिये काम आसानी से हो जाता है। ऐसे लोगों को ये जानना चाहिये कि सुबह 4 बजे भी कोई डिस्टर्ब करने वाला नही होता है रात से ज्यादा शाान्ति रहती है। वहीं आपके अन्दर एक स्फूर्ति होती जिससे आपके काम करने की परफॉर्मेंस और ज्यादा अच्छी रहेगी।

मोबाइल व इण्टरनेट का न्यूनतम उपयोग करे

डिजीटल युग मे मोबाइल और इण्टरनेट के इस्तेमाल ने लोगों को ज्यादा आलसी बना दिया है। एक अध्ययन से पता चलता है कि एक व्यक्ति औसतन अपने 3—5 घण्टे मोबाइल पर बरबाद करता है। रात को सोते समय मोबाइल का उपयोग न करें इससे देर रात तक लोग मोबाइल मे लगे रहते हैं और उन्हे सुबह उठने मे समस्या होती है जिससे उनका पूरा दिन खराब जाता है।

बुरी लतों से दूर रहे

शराब और सिगरेट जैसी बुरी लतें हमारे स्वास्थ्य को खराब तो करती ही हैं साथ ही इससे पैसे और समय दोनो की बरबादी होती है। एक सिगरेट पीने मे औसतन 5 मिनट का समय लगता है लेकिन इसके लिये जुगाड करने और माहौल बनाने मे आधा घण्टा से ज्यादा का समय लगता है। हमारे समाज मे घर पर​ सिगरेट पीने का रिवाज नही है इसलिये लोग सिगरेट पीने के लिये घर से दूर जाते है और अपने दोस्तों के साथ सिगरेट पीते हैं दोस्तों से बाते करते करते कब समय निकल जाता है पता ही नही चलता।

उम्मीद है कि समय मैनेजमेंट पर हमारा ये आर्टिकल आपको अच्छा लगा होगा। हमारे आर्टिकल आपको कैसे लग रहे हैं हमें कमेंट करके जरूर बताऐं। आपके सुझाव और शिकायत हमें अवश्य बताऐं ​जिससे हम अपने कंटेंट को और भी बेहतर बना सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here