डीएम (DM) कैसे बनें? DM की Salary व योग्यता

77

डीएम (DM) कैसे बनें? जिले में सबसे ज्यादा रूतबे वाला पद डीएम का होता है। डीएम अपने जिले का मुखिया होता है और जिले का सर्वोच्च अधिका​री होता है। अगर आप भी डीएम बनना चाहते हो तो यह आर्टिकल आपके लिये हैं। इस आर्टिकल में आप जानेगें कि डीएम कैसे बनते हैं। डीएम की सैलरी कितनी होती है और डीएम की क्या पावर होती है।

डीएम (DM) क्या होता है DM Full Form in Hindi

DM की फुल फॉर्म District Magistrate होती है। इसे हिंदी में जिलाधिकारी कहते हैं। जिलाधिकारी को जिला मजिस्ट्रेट, जिलाधीश या कलेक्टर नाम से भी जाना जाता है। जिलाधिकारी का काम अपने अधिकारिक जिले की व्यवस्था सुचारू रूप से चलाना होता है। सरकार की किसी भी योजना को जिले में लागू करने के काम जिलाधिकारी का ही हेाता है। इसके अलावा जिले की कानून व्यवस्था के लिये भी जिलाधिकारी जिम्मेदार होते हैं। (ये भी जरूर पढ़ें:— CDO Full Form in Hindi सी.डी.ओ. कैसे बनें?)

डीएम (DM) कैसे बनें?

डीएम बनने के लिये IAS होना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि IAS अधिकारी ही डीएम बनता है। डीएम बनने के लिये आपको Civil Services Exam पास करनी होगी ​जो कि UPSC द्वारा आयोजित की जाती है।

परीक्षा पास करने के बाद आप एक IAS Officer बन जाते हैं जिसके बाद जिले में किसी जिले सतर के पद पर या SDM के पद पर तैनाती मिल जाती है। अनुभव के बाद प्रमोशन होता है और एक या दो प्रमोशन के बाद डीएम का पद मिल जाता है।

डीएम बनने के लिए योग्यता

जैसा की आपको बताया कि DM एक IAS Officer होता है और एक आईएएस अधिकारी बनने के लिये कम से कम किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन होना जरूरी है। वहीं आयु सीमा सामान्य वर्ग के लिये 21 से 32 साल तक है। वहीं ओबीसी को 3 साला की छूट व एससीएसटी को 5 साल की छूट मिलती है।

जिलाधिकारी (डीएम) के कार्य

DM ​जिले में सरकार का प्रतिनिधि होता है। डीएम का कार्य कानून व्यवस्था बनाऐं रखना, भूमि रिकार्ड की देखभाल करना, उत्पदा शुक्ल, राजस्व वसूलना, आयकर कलेक्ट करना, सरकारी योजनाओं को लागू करना आदि होता है। डीएम जिले में हर सरकारी काम के लिये जिम्मेदार होता है।

डीएम अधिकारी का वेतन

डीएम जिले का वरिष्ठ अधिकारी होता है इसलिये जिलाधिकारी के वेतन में अच्छा खासा होता है। डीएम की सैलरी 1 से 1.5 लाख रूपये तक होती है। इसके अलावा जिलाधिकारी कई सुविधाऐं भी ​मिलती हैं। जिनमें बंगला, गाड़ी, सुरक्षागार्ड, फोन आदि की सुविधा मिलती है। डीएम को सैलरी के अलावा कई प्रकार के भत्ते मिलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here