बरसात में हमसे मिले तुम सजन।हिन्दी गीत। Hindi Lyrics

18

गीत: बरसात में, हमसे मिले तुम सजन
फिल्म: बरसात
गीतकार: शैलेंन्द्र
गायक: लता मंगेशकर

बरसात में
हमसे मिले तुम सजन
तुमसे मिले हम
बरसात में
Barsaat me
Hamse mile tum sajan
Tumse mile ham
Barsaat me

नैनों से झांकी जी, (मेरी) मस्त जवानी
कहती फिरे दुनिया से, (मेरे) दिल की कहानी
उनकी जो मैं, उनसे कैसी शरम
बरसात में…
Naino se jhanki ji (meri) mast jawani
Kehti fire duniya se, (meri) dil ki kahani
Unki jo main, unse kaisi sharam
Barsaat me……….
प्रीत ने सिंगार किया, मैं बनी दुल्हन
सपनों की रिमझिम में, (मेरा) नाच उठा मन
आज मैं तुम्हारी हुई, तुम मेरे सनम
बरसात में…
Preet ne singaar kiya, main bani dulhan
Sapno ki rimjhim me, (meri) naach utha man
Aaj main tumhari hui, tum mere sanam
Barsaat me……..

ये समां है जा रहे हो, कैसे मनाऊँ
मैं तुम्हारी राह में ये नैन बिछाऊँ
जो ना आओ तुमको, (मेरी) जान की क़सम
बरसात में…
Ye Saman Hai ja rahe ho, kaise manau
Main tumhari raah me ye nain bichhaun
Jo na aao tumko, (meri) jan ki kasam
Barsaat me…..

देर ना करना कहीं ये, आस टूट जाये, सांस छूट जाये
तुम ना आओ दिल की लगी, मुझको ही जलाये, ख़ाक़ में मिलाये
आग़ की लपटों में पुकारे ये मेरा गम
मिल ना सके, हाय, मिल ना सके हम
Der n karna kahin ye, aas toot jaye, saans choot jaye
Tum n aao dil lgi, mujhko hi jalaye, khak me milaye
Aag ki lapton me pukare ye mera gum
Mil na sake, Hay, mil n sake hum

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here